जेल में बिगड़ी CM अरविंद केजरीवाल की तबीयत, गिरफ्तारी के बाद साढ़े चार किलो वजन हुआ कम

Photo of author

By Gulam Mohammad

जेल में बिगड़ी CM अरविंद केजरीवाल की तबीयत, गिरफ्तारी के बाद साढ़े चार किलो वजन हुआ कम

Arvind Kejriwal Health: दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े लॉन्ड्रिंग मामले में सीएम अरविंद केजरीवाल को ईडी ने 21 मार्च को गिरफ्तार किया था। उन्हें तिहाड़ जेल के नंबर 2 में रखा गया है।

जेल में बिगड़ी CM अरविंद केजरीवाल की तबीयत, गिरफ्तारी के बाद साढ़े चार किलो वजन हुआ कम

Arvind Kejriwal Health: दिल्ली शराब नीति से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तिहाड़ जेल में बंद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की तबीयत सही नहीं है. एबीपी न्यूज़ को सूत्रों ने बताया कि गिरफ्तारी के बाद केजरीवाल का साढ़े चार किलो वजन कम हो चुका है. इसको लेकर डॉक्टरों ने चिंता जताई है.

केंद्रीय जांच एजेंसी ने दिल्ली आबकारी नीति से जुड़े लॉन्ड्रिंग मामले में 21 मार्च को आम आदमी पार्टी (AAP) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार किया था. इसके बाद केजरीवाल ईडी हिरासत में रहे और फिर उन्हें  कोर्ट ने 15 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. न्यायिक हिरासत में भेजे जाने के बाद केजरीवाल को तिहाड़ जेल के नंबर 2 में रखा गया है.

दरअसल, ईडी ने दावा किया है कि दिल्ली शराब नीति को तैयार करने और लागू करने में हुई गड़बड़ी के मुख्य साजिशकर्ता अरविंद केजरीवाल हैं. केंद्रीय जांच एजेंसी का कहना है कि इसमें इसके अलावा AAP के कई नेता शामिल रहे हैं. इस मामले में ही पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया कैद में हैं.

वहीं AAP के राज्यसभा सांसद संजय सिंह को मामले में राहत देते हुए मंगलवार (3 अप्रैल, 2024) को कोर्ट ने जमानत दे दी. ईडी ने कहा था कि सिंह को मामले में जमानत देने से उसे कोई आपत्ति नहीं है. पार्टी ने ईडी के आरोप को बेबुनियाद करार दिया है.

AAP ने क्या कहा?
दिल्ली सरकार में मंत्री और AAP नेता आतिशी ने मंगलवार को दावा किया कि उनके एक करीबी व्यक्ति ने उनसे कहा था कि उन्हें बीजेपी में शामिल हो जाना चाहिए या एक महीने के भीतर गिरफ्तार किए जाने के लिए तैयार रहना चाहिए. उन्होंने आगे कहा कि मेरे अलावा सौरभ भारद्वाज, विधायक दुर्गेश पाठक और राज्यसभा सदस्य राघव चड्ढा को भी गिरफ्तार किया जाएगा.

Leave a Reply

Discover more from Jai Bharat Samachar

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading