TV9 Bharatvarsh Survey: उत्तर प्रदेश में मुख्तार अंसारी का प्रभाव दिखता था, लेकिन लोकसभा चुनाव में वहाँ कौन विजयी हो सकता है? सर्वे के नतीजे जारी।

Photo of author

By Gulam Mohammad

Lok Sabha Election: पूर्वांचल में उत्तर प्रदेश को मुख्तार अंसारी का किला माना जाता है। पिछले चुनाव में मोदी लहर के बावजूद, यहां बीजेपी को कई सीटों पर हार का सामना करना पड़ा था।

TV9 Bharatvarsh Survey: उत्तर प्रदेश में मुख्तार अंसारी का प्रभाव दिखता था, लेकिन लोकसभा चुनाव में वहाँ कौन विजयी हो सकता है? सर्वे के नतीजे जारी।

Lok Sabha Election 2024: पूर्व विधायक और माफिया मुख्तार अंसारी की गुरुवार (28 मार्च) को देर शाम बांदा में हार्ट अटैक से मौत हो गई. वह बांदा जेल में बंद थे. मुख्तार अंसारी मऊ से पांच बार विधायक रहे. उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल को माफिया मुख्तार का गढ़ मना जाता है.

पूर्वांचल की कई लोकसभा सीटों पर उनका सीधा या आंशिक प्रभाव माना जाता है. एक समय वाराणसी, गाजीपुर, बल‍िया, जौनपुर, आजमगढ़, चंदौली और घोसी में मुख्‍तार अंसारी की तूती बोलती थी. इन जिलों में मुख्‍तार अंसारी और इसके कुनबे का दबदबा माना जाता था.

इन सीटों पर हाल ही में टीवी9 भारतवर्ष ने एक सर्वे किया था. इस सर्वे में चौंकाने वाले परिणाम सामने हैं. सर्वे के मुताबिक, मुख्तार अंसारी के प्रभाव वाली लगभग सभी सीटों पर बीजेपी के जीतने की उम्मीद है. इसमें गाजीपुर, जौनपुर और आजमगढ़ की सीट अहम हैं. पिछले चुनाव में मोदी लहर के बावजूद बीजेपी को इन सीटों पर शिकस्त झेलनी पड़ी थी.

वाराणसी सीट से जीते थे पीएम मोदी
2019 लोकसभा चुनाव में वाराणसी सीट पर पीएम मोदी ने जीत हासिल की थी. एकतरफा चुनाव में पीएम मोदी 479,505 मतों के अंतर से चुनाव जीते थे. वहीं, पिछले चुनाव में बलिया सीट पर बीजेपी के खाते में गई थी. यहां से बीजेपी उम्मीदवार वीरेंद्र सिंह मस्त सांसद चुने गए. उन्होंने समाजवादी पार्टी ने सनातन पांडे को शिकस्त दी थी.

गाजीपुर में अफजाल अंसारी का दिखा दम
पिछले चुनाव में गाजीपुर संसदीय सीट पर बीजेपी को झटका लगा था और उसके कद्दावर नेता मनोज सिन्हा को हार मिली थी. इस सीट से मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी ने 1,19,392 मतों के अंतर से जीत हासिल की थी.

जौनपुर और आजमगढ़ में भी बीजेपी को हार
2019 के चुनाव में बीजेपी जौनपुर सीट भी नहीं जीत सकी थी. यहां बीएसपी के प्रत्याशी श्याम सिंह यादव ने बीजेपी के कृष्ण प्रताप सिंह को हराया था. इसके अलावा 2019 के संसदीय चुनाव में समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव आजमगढ़ लोकसभा सीट से भी मैदान में उतरे. यादव बहुल इस संसदीय सीट पर अखिलेश यादव ने बीजेपी के प्रत्याशी और भोजपुरी सिनेमा के स्टार दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ को 2,59,874 मतों के अंतर से हराया था.

घोसी और चंदौली में क्या था रिजल्ट?
लोकसभा चुनाव 2019 में चंदौली सीट पर बीजेपी के टिकट पर डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने लगातार दूसरी बार जीत हासिल की थी. उन्होंने समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी संजय सिंह चौहान को हराया था. वहीं, घोसी सीट पर बहुजन समाज पार्टी के अतुल राय ने बीजेपी के हरिनारायण राजभर को 1,22,568 वोटों से हराया है.

Leave a Reply

Discover more from Jai Bharat Samachar

Subscribe now to keep reading and get access to the full archive.

Continue reading